Gita Press

कल्याण ज्योतिष अंक | Kalyan Gita Press PDF

कल्याण भक्ति अंक – Kalyan Bhakti Ank Book/Pustak Pdf Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश भावित चिलका नाम उन्हीं-उन्हीं श्च्दोंद्ारा कहा नता-है। जैसे देषकी सामग्री उपस्थित होने चिक्की तदाकारत वृत्तिका माम द्वेष होगा उसी प्रकार भगवान के दिव्य – विग्रहके दर्शनसे, उनकी लोकातीत स्त्रीलामोंके श्रवण तथा परम-प्रेमास्पद भक्त-जनाहादिनी उनकी कथा ओके कथोपकथनसे द्रवीकृत चिवचिका …

कल्याण ज्योतिष अंक | Kalyan Gita Press PDF Read More »

कृष्णालीला | Krishna Leela Ka Chintan PDF In Hindi

कृष्णालीला का चिन्तन – Krishna Leela Ka Chintan Book/Pustak Pdf Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश व्रजेन्द्रगेहिनी यशोदा नेत्र निमीलित किये मणिमय दीवालके सहारे चुपचाप निस्पन्द बैठी हैं श्रीरेहिणीजीकी आँखें भी बंद हैं। अन्य समस्त परिचारिकाएँ भी निद्राभिभूत होकर बाह्यज्ञानशून्य हो रही हैं इसलिये दिव्य नराकृति परब्रह्मको सूतिकागारमें पदार्पण करते तो किसीने नहीं देखा, …

कृष्णालीला | Krishna Leela Ka Chintan PDF In Hindi Read More »

कूर्म पुराण | Kurma Purana PDF In Hindi

कूर्म पुराण – Kurma Purana Gita Press Book Pdf Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश कूर्म (कच्छप)-रूप धारण किये हुए सर्वद्रष्टा अविनाशी भगवान् विष्णुको देखकर देवताओं तथा नारदादि महर्षियोंने उन देवकी स्तुति की ॥ २९ ॥ उसी समय नारायण भगवान् विष्णुकी प्रिया देवी श्रीलक्ष्मीका आविर्भाव हुआ। उन्हें पुरुषोत्तम भगवान् विष्णुने ही ग्रहण किया। लक्ष्मीके …

कूर्म पुराण | Kurma Purana PDF In Hindi Read More »

एक लोटा पानि | Ek Lota Pani PDF In Hindi

एक लोटा पानि कहानी – Ek Lota Pani Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश चैतका महीना था। ग्वालियर राज्यका मशहूर डाकू परसराम अपने अरबी घोड़ेपर चढ़ा हुआ, जिला दमोहके देहातमें होकर कहीं जा रहा था। लकालक दोपहरी थी। प्यासके कारण परसरामका गला सूख रहा था। कोई तालाब नदी या गाँव दिखायी न …

एक लोटा पानि | Ek Lota Pani PDF In Hindi Read More »

गरुड पुराण | Garud Puran PDF In Hindi

गरुड़ पुराण सारोद्धार – Garud Purana Book PDF Free Download श्लोक अर्थ सहित श्रीभगवान् बोले-हे पक्षीन्द्र! सुनो, मैं उस यममार्गके विषयमें कहता हूँ, जिस मार्गसे पापीजन नरककी यात्रा करते हैं और जो सुननेवालोंके लिये भी भयावह है॥ १३ ॥ ये हि पापरतास्ताक्ष्य दयाधर्मविवर्जिताः । दुष्टसङ्गाश्च सच्छास्त्रसत्संगतिपराङ्मुखाः॥१४॥ आत्मसम्भाविताः स्तब्धा धनमानमदान्विताः। आसुरं भावमापत्रा दैवीसम्पद्विवर्जिता:॥ १५॥ अनेकचित्तविभ्रान्ता मोहजालसमावृताः …

गरुड पुराण | Garud Puran PDF In Hindi Read More »

वेदांत दर्शन (ब्रह्मसूत्र) | Vedant Darshan PDF

वेदांत दर्शन ब्रह्मसूत्र – Vedant Darshan PDF Free Download वेदांत दर्शन गीता प्रेस महर्षि वेदव्यासरचित ब्रह्मसूत्र बडा ही महत्त्वपूर्ण ग्रन्थ है। इसमें थोड़े-से शब्दों में परब्रह्मके स्वरूपका साङ्गोपाङ्ग निरूपण किया गया है, इसीलिये इसकर नाम ‘ब्रह्मसूत्र’ है। यह ग्रन्य वेदके चरम सिद्धान्तका निदर्शन कराता है, अतः इसे ‘वेदान्त-दर्शन’ भी कहते है । वेदके अन्त या …

वेदांत दर्शन (ब्रह्मसूत्र) | Vedant Darshan PDF Read More »

वैदिक सूक्त संग्रह | Vedic Sukta Sangrah PDF

वैदिक सूक्त संग्रह – Vedic Sukta Sangrah Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश वायुदेवता हमें सुखकारी औषधियाँ प्राप्त करायें। माता पृथ्वी और पिता स्वर्ग भी हमें सुखकारी औषधियाँ प्रदान करें। सोमका अभिषव करनेवाले सुखदाता ग्रावा उस औषधरूप अदृष्टको प्रकट करें हे अश्विनीकुमारो। आप दोनों सबके आधार है. हमारी प्रार्थना सुनिये ॥ ४॥ …

वैदिक सूक्त संग्रह | Vedic Sukta Sangrah PDF Read More »

श्री विदुर नीति | Complete Vidur Niti PDF In Hindi

विदुर नीति संस्कृत-हिंदी अनुवाद सहित PDF Free Download दूसरा अध्याय धृतराष्ट्रका व्याकुल होकर अपने हितकी बात पूछना विदुरके द्वारा हितकी बात कहनेकी प्रतिज्ञा असत् उपायोंसे सफलता मिले तो भी उधर मन न लगावे और अच्छे उपायोंसे असफलता होती हो तो भी इसके लिये मनमें ग्लानि न करे- इसका प्रतिपादन प्रयोजन, परिणाम और उन्नतिका विचार करके …

श्री विदुर नीति | Complete Vidur Niti PDF In Hindi Read More »

सुन्दरकाण्ड संपूर्ण पाठ | Sunderkand PDF In Hindi

रामायण के सुंदरकांड हिंदी – Sunderkand Hindi PDF Free Download रामचरितमानस सुन्दरकांड के फायदे (Benefits) यह कहा जाता है कि चालीस सप्ताह तक लगातार जो कोई श्रद्धापूर्वक सुंदरकाण्ड का पाठ करता है, तो उसके सभी मनोरथ पूरे होते हैं तथा जीवन के सभी कष्ट, दुःख, परेशानियाँ दूर हो जाती हैँ । कई ज्योतिषी भी विपरित परिस्थितियों में …

सुन्दरकाण्ड संपूर्ण पाठ | Sunderkand PDF In Hindi Read More »

श्री स्कन्द महापुराण | Skand Purana PDF In Hindi

स्कन्द पुराण – Skand Puran PDF Free Download ॥ माहेश्वर खंड ॥ १ – दक्ष वृतान्त वर्णन ॐ नारायण नमस्कृत्य नरचैव नरोत्तमम् । देवी सरस्वतीचैव ततो जयमुदीरयेत् ।१। यस्याज्ञयाजगत्स्रष्टाविरिञ्चिःपालकोहरिः सहत कालरुद्राख्योनमस्तस्मै पिनाकिने |२| अर्थ: भगवान श्री नारायण की सेवा में नमस्कार समर्पित करके नरों मे उत्तम नर को प्रणाम करके तथा देवी सरस्वती की वन्दना …

श्री स्कन्द महापुराण | Skand Purana PDF In Hindi Read More »

गणेश (विनायक) चतुर्थी व्रत कथा | Ganesh Chaturthi Vrat PDF In Hindi

गणेश चतुर्थी व्रत कथा – Ganesh Chaturthi Vrat Book/Pustak PDF Free Download गणेश चतुर्थी कथाओं का क्रम १. चैत्र कृष्ण गणेश चतुर्थी व्रत कथा (मकरध्वज नामक राजा की कथा) २. बैशाख कृष्ण गणेश चतुर्थी व्रत कथा (धर्मकेतु नामक ब्राह्मण की कथा) ३. ज्येष्ठ कृष्ण गणेश चतुर्थी व्रत कथा (दयादेव नामक ब्राह्मण की कथा ) ४. …

गणेश (विनायक) चतुर्थी व्रत कथा | Ganesh Chaturthi Vrat PDF In Hindi Read More »

कवितावली तुलसीदास अर्थ सहित | Kavitavali PDF In Hindi

कवितावली – Kavitavali Tulsidas Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश हय हिहिनात, मागे बात पहरात गज, भारी भीर ठेलि-पेलि रौंदि-खौंदि डारहीं। नाम लै चिलात, बिललात अकुलात अति,’तात तात ! तौंसिअत, झौंसिअत, झांरही’ I॥१५॥ आग लग गयी, आग लग गयी, ऐसा पुकारते हुए सब लोग जहाँ-तहाँ भाग चले । न माँ लड़कीको सँभालती …

कवितावली तुलसीदास अर्थ सहित | Kavitavali PDF In Hindi Read More »

भागवत स्तुति संग्रह | Bhagwat Stuti Sangrah PDF In Hindi

भागवत स्तुति संग्रह – Bhagwat Stuti Sangrah Book/Pustak Pdf Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश जैसे व्यापक होनेसे आकाश परिच्छिन्न नहीं हो सकता वैसे ही ईश्वर भी परिच्छिन्न नहीं हो सकता। व्यापक पदार्थका स्वभाव ही है कि वह परिच्छिन्न न हो। ऐसी परिस्थितिमें उस परिन्छिन्नरूपकी स्तुति करना निरर्थक ही है।(५) कदाचित् ईश्वर परिच्छिन्नरूपमें प्रकट …

भागवत स्तुति संग्रह | Bhagwat Stuti Sangrah PDF In Hindi Read More »

दश महाविद्या | Das Mahavidya PDF In Hindi

दश महाविद्या पाठ – Dasha Mahavidya Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश क्षीयमान आपके अधिष्ठान दक्षिणामूर्ति कालभैरव है। उनकी शक्ति ही त्रिपुरभैरवी है। ये ललिता या महात्रिपुरसुन्दरी की रधवा हिनीहैं। वहयह पुराणे इने गुभ थोगिनियोंकी अधिष्री देवी के रूप में चित्रित किया गया है। पत्यपुराण में उनके त्रिपुरभैरवी, कोलेशभैरवी, रूभैरणी, चैतव्यभैरवी तथा …

दश महाविद्या | Das Mahavidya PDF In Hindi Read More »

श्री एकनाथी भागवत | Eknathi Bhagwat Marathi

श्री एकनाथी भागवत अर्थ सहित ग्रंथ – Shri Eknathi Bhagwat Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक के कुछ मशीनी अंश कामधेनु करी थाणा। यत्यरपें] भावी मीणा । बावड़ी चाटवी योरधरसना । स्वानंदपान्हा सेवितू ॥ ५ ॥उकचृत्तीची सेवा स्यांधि करायी गा गुरदेवा । ऐसे मा भूमि वर । दा वरु मन यावा पानी ॥ २१ ॥ तेव …

श्री एकनाथी भागवत | Eknathi Bhagwat Marathi Read More »