Hindi Books PDF

यह एक हिंदी किताबों का संग्रह है. 500 से अधिक हिंदी किताब को pdf के स्वरूप में डाउनलोड कर सकते हो. Here you find more than 500 Hindi Books PDF easy to read and download.

राजतरंगिणी | Rajatarangini PDF In Hindi

राजतरंगिणी कल्हण कृत – Rajatarangini Book/Pustak PDF Free Download लेखक कल्हण और उसकी कृति रचना : कल्हण के सम्बन्ध में जो कुछ सामग्रो बीसवी शताब्दी के प्रथम दशक तक प्राप्त हुई है, उससे अधिक इस दिशा में प्रगति नहीं हो सको है । राजतरंगिणी, अर्धनारीश्वर स्तोत्र तथा जय सिंहाभ्युदय काव्य कल्हण से सम्बन्धित किये जाते …

राजतरंगिणी | Rajatarangini PDF In Hindi Read More »

मजाज और उनकी शायरी | Shayri PDF In Hindi

मजाज और उनकी शायरी | Majaj Aur Unki Shayri Book/Pustak Pdf Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश उदासी भी है और वातावरण की विपमताओरों के विरुद्ध विद्रोह की प्रचढ अग्नि भी। ‘आवारा’ मे मैने ‘मजाज का पूरा व्यक्तित्व देख लिया लेकिन इसके साथ ही इस बागी बहार व्यक्ति को समीप से देखने की मेरी …

मजाज और उनकी शायरी | Shayri PDF In Hindi Read More »

श्री विदुर नीति | Complete Vidur Niti PDF In Hindi

विदुर नीति संस्कृत-हिंदी अनुवाद सहित PDF Free Download दूसरा अध्याय धृतराष्ट्रका व्याकुल होकर अपने हितकी बात पूछना विदुरके द्वारा हितकी बात कहनेकी प्रतिज्ञा असत् उपायोंसे सफलता मिले तो भी उधर मन न लगावे और अच्छे उपायोंसे असफलता होती हो तो भी इसके लिये मनमें ग्लानि न करे- इसका प्रतिपादन प्रयोजन, परिणाम और उन्नतिका विचार करके …

श्री विदुर नीति | Complete Vidur Niti PDF In Hindi Read More »

माण्डूक्य उपनिषद | Mandukya Upanishad PDF In Hindi

मांडूक्य उपनिषद – Mandukya Upanishad Book/Pustak PDF Free Download माण्डुक्य उपनिषद गुरुकी भाषा टिका सहित मन्त्रों में बीज, शक्ति, कीलक का प्रयोग वैदिक मन्त्रों की अपेक्षा अधिक है। वैदिक मन्त्रों में भी कहीं फट्, बषट, स्वाहा आदि बीजों म का प्रयोग भी आगमिक मन्त्रों के समान उपलब्ध होता है। बीज आदि का ज्ञान आलौकिक अनुभूति …

माण्डूक्य उपनिषद | Mandukya Upanishad PDF In Hindi Read More »

नीतिशास्त्र | Nitishastra PDF In Hindi

भारतीय नीतिशास्त्र – Ethics Hindi Book PDF Free Download नीतिशास्त्र का परिभाषा “नीतिशास्त्र” की मानक परिभाषाओं में ‘आदर्श मानव चरित्र का विज्ञान’ या ‘नैतिक कर्तव्य का विज्ञान’ जैसे वाक्यांश आम तौर पर शामिल रहे हैं।” रिचर्ड विलियम पॉल और लिंडा एल्डर की परिभाषा के अनुसार, नीतिशास्त्र “एक संकल्पनाओं और सिद्धान्तों का समुच्चय हैं, जो, कौनसा …

नीतिशास्त्र | Nitishastra PDF In Hindi Read More »

प्रेमयोग: स्वामी विवेकानंद | Prem Yog PDF In Hindi

प्रेम योग – Prem Yog Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश पर-धन धान्य, कपड़े लने, पुत्र कलत्र, बंधु बांधव, और अन्यान्य सामग्रियों पर कैसी इढ प्रीति करते हैं। इनवस्तुओं के प्रति उनकी कैसी घोर आसक्ति रहती है। इसीलिये इस परिभाषा में वे भक विराज कहते हैं” वैसी ही प्रबल आसक्ति, वैसी ही …

प्रेमयोग: स्वामी विवेकानंद | Prem Yog PDF In Hindi Read More »

मकसदे जिन्दगी | Maqsad e Zindagi PDF

मकसदे जिन्दगी – Maqsad e Zindagi Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश मोहतरम बुजुर्गों दोस्तो काम्याबी हर इलसान काम्यान होना चाहता है, और अल्लाह भी चाहते है मेरे बंदे काम्यान होजाये इसलिये अत्मह ने दुन्या में कमोबेश सवालारव नबियों को भेजे ताके बंदो को काव्यान होने का रास्ता बतलायें कयूके कायेनात को …

मकसदे जिन्दगी | Maqsad e Zindagi PDF Read More »

हिफाज़त हर चीज की दुआ | Hifazat Har Cheez Ki Dua PDF

हिफाज़त हर चीज की दुआ – Hifazat Har Cheez Ki Dua Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश फजीलत: हज़रत मुस्लिम बिन हारिस तमीमी फरमाते हैं के रसूलुल्लाह ने उनके साथ सरगोशी फरमाई और फरमाया के जब तुम मग्रिब की नमाज़ से फारिग हो जाओ तो ७ मरतबा यह दुआ पढो, अगर तुम …

हिफाज़त हर चीज की दुआ | Hifazat Har Cheez Ki Dua PDF Read More »

हिमालय के सिद्ध योगी | Himalaya Ka Yogi PDF In Hindi

हिमालय के सिद्ध योगियों की गुप्त सिद्धियां PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश इस किताब में ब्रह्मनिष्ठ योगीप्रवर श्री १०८ ब्रह्मपि स्वामी योगेश्वरानन्द सरस्वतीजी महाराज (भूतपूर्व राजयोगाचार्य बालब्रह्मचारी व्यासदेवजी महाराज) के जीवन की विशेष घटनाश्री और अनुभूतियो का वर्णन है और जो ‘प्रात्म-विज्ञान’, ‘ब्रह्म-विज्ञान’ तथा ‘बहिरङ्ग-योग’ के रचियता हैं गहापु्प गभ्यना, ममनि भर …

हिमालय के सिद्ध योगी | Himalaya Ka Yogi PDF In Hindi Read More »

मेघदूत: कालिदास | Meghdoot PDF In Hindi

हिंदू मेघदूत विमर्ष – Meghdoot Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश तरह पूरित कर दिया है कि याचक-पृन्द के पास पास इस रस का पातापरण व्यामाविक आदी उपस्थित हो जाता है । सच तो यह है कि शृङ्गार और करुण रस के मुख्य करि कालिदास और भवभूति के मध्य में थीर-रस के …

मेघदूत: कालिदास | Meghdoot PDF In Hindi Read More »

आत्मानुभूति तथा उसके मार्ग | Atmanubhuti Tatha Uske Marg PDF

आत्मानुभूति तथा उसके मार्ग – Atmanubhuti Tatha Uske Marg Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश आज रात को मैं तुम्हें वेदों में लिखी हुई एक कहानी बतलाता हूँ। वेद हिन्दुओं के पवित्र शाखप्रंथ हैं । ये साहित्य के विस्तृत संकलन है। इनका अन्तिम भाग बेदान्त ‘ कहलाता है अर्थात् वेदों का पूर्ण …

आत्मानुभूति तथा उसके मार्ग | Atmanubhuti Tatha Uske Marg PDF Read More »

मुद्राराक्षस विशाखदत्त कृत नाटक | Mudrarakshas PDF In Hindi

मुद्राराक्षस हिंदी अनुवाद – Mudrarakshasa Book/Pustak PDF Free Download नाटक की पूर्व कथा पूर्व काल में भारतवर्ष मे मगधराज्य एक बड़ा भारी जनस्थान था । जरासन्ध आदि अनेक प्रसिद्ध पुरुषसी राजा यहा बड़े प्रसिद्ध हुए है। इस देश की राजधानी पाटलिपुत्र अथवा पुष्पपुर थी। इन लोगों ने अपना प्रताप और सो इतना बढ़ाया था कि …

मुद्राराक्षस विशाखदत्त कृत नाटक | Mudrarakshas PDF In Hindi Read More »

अन्धा युग नाटक: धर्मवीर भारती | Andha Yug PDF In Hindi

अँधा युग – Andha Yug Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश पा गही शाी दुए थोर इस्तिनासुर है। पाया। जाकर कहूँगा क्या इस सम्जाजनक पराजय के बाद भी त्यो जीवित बचा हूँ? कैसे कहूँ मैं कमी नहीं शब्दो की माज भी मैने ही उनको बताया है युद्ध में घटा जो-जो. लेकिन माज …

अन्धा युग नाटक: धर्मवीर भारती | Andha Yug PDF In Hindi Read More »

साधना और सिद्धि | Yoga And Perfection English & Hindi PDF

Yoga And Perfection English PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश ज्ञान दीप को लेकर हाथ, विराग कवच को लेकर साथ । परम लोक की ओर बढ़ो तुम विन रुके चलो, है अमृत सुतपावन मेरे नाम और रूप, चिन्मय-आनंदमय और अनुप । पर ‘परम प्रकाशित-परम लोक, लक्ष्य तुम्हारा, हे अमृत सुत ! असीम निविंकार …

साधना और सिद्धि | Yoga And Perfection English & Hindi PDF Read More »

आजीवन निरोगी कैसे रहें | How To Become Lifetime Healthy PDF

आजीवन निरोगी कैसे रहें – Ajivan Nirogi Kaise Rahen Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश आज के सामान्य परिवार एवं समाज की स्वाभाविक स्थिति ऐसी गई है कि वह अनुपयोगी एवं कष्टसाध्य रोगी व्यक्तियों की सेवा करना भार मानने लगा है। इसका कटु अनुभव जीर्ण रोगों से आक्रान्त बच्चों एकु ए् जनों …

आजीवन निरोगी कैसे रहें | How To Become Lifetime Healthy PDF Read More »