शिव रुद्राभिषेक मंत्र | Shiva Rudrabhishek Mantra PDF In Hindi

‘शिव रुद्राभिषेक’ PDF Quick download link is given at the bottom of this article. You can see the PDF demo, size of the PDF, page numbers, and direct download Free PDF of ‘Shiva Rudrabhishek’ using the download button.

सम्पूर्ण शिव रुद्राभिषेक मंत्र – Sampoorna Shiva Rudrabhishek Mantra Pustak PDF Free Download

शिव रुद्राभिषेक मंत्र

शिव रुद्राभिषेक मंत्र

ॐ नम: शम्भवाय च मयोभवाय च नम: शंकराय च

मयस्कराय च नम: शिवाय च शिवतराय च ॥

ईशानः सर्वविद्यानामीश्व रः सर्वभूतानां ब्रह्माधिपतिर्ब्रह्मणोऽधिपति

ब्रह्मा शिवो मे अस्तु सदाशिवोय्‌ ॥

तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि।

तन्नो रुद्रः प्रचोदयात्॥

अघोरेभ्योथघोरेभ्यो घोरघोरतरेभ्यः सर्वेभ्यः

सर्व सर्वेभ्यो नमस्ते अस्तु रुद्ररुपेभ्यः ॥

वामदेवाय नमो ज्येष्ठारय नमः श्रेष्ठारय नमो

रुद्राय नमः कालाय नम:

कलविकरणाय नमो बलविकरणाय नमः

बलाय नमो बलप्रमथनाथाय नमः

सर्वभूतदमनाय नमो मनोन्मनाय नमः ॥

सद्योजातं प्रपद्यामि सद्योजाताय वै नमो नमः ।

भवे भवे नाति भवे भवस्व मां भवोद्‌भवाय नमः ॥

नम: सायं नम: प्रातर्नमो रात्र्या नमो दिवा ।

भवाय च शर्वाय चाभाभ्यामकरं नम: ॥

यस्य नि:श्र्वसितं वेदा यो वेदेभ्योsखिलं जगत् ।

निर्ममे तमहं वन्दे विद्यातीर्थ महेश्वरम् ॥

त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिबर्धनम्

उर्वारूकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मा मृतात् ॥

सर्वो वै रुद्रास्तस्मै रुद्राय नमो अस्तु ।

पुरुषो वै रुद्र: सन्महो नमो नम: ॥

विश्वा भूतं भुवनं चित्रं बहुधा जातं जायामानं च यत् ।

सर्वो ह्येष रुद्रस्तस्मै रुद्राय नमो अस्तु ॥

रुद्राभिषेक के प्रकार और महत्व

1- जलाभिषेक – शास्त्रों के जानकारों के अनुसार ऐसा माना गया है कि भगवान शिव को जलाभिषेक करने से अच्छी वृष्टि होती है और सभी मनोरथ पूरे होते हैं।

2- दुग्ध अभिषेक – शिवलिंग पर दूध चढ़ाने से साधक को भगवान भोलेनाथ की कृपा से दीर्घायु प्राप्त होती है।

3- शहद अभिषेक – माना जाता है कि भगवान शिव का शहद से अभिषेक करने से जीवन के सभी दुख तथा कष्ट तत्काल ही दूर हो जाते हैं।

4- पंचामृत अभिषेक – दूध, दही, मिश्री, घी तथा शहद के मिश्रण से तैयार पंचामृत से भगवान शिव का अभिषेक करने से धन, सम्पदा की प्राप्ति होती है।

5- घी अभिषेक – मान्यता है कि शिवलिंग पर घी चढ़ाने पर किसी प्रकार का शारीरिक रोग या कोई रोग नहीं सताता।

6- दही अभिषेक – मान्यता है कि दही से अभिषेक करने से साधक को संतान सुख की प्राप्ति होती है।

रुद्राभिषेक मंत्र जाप करने के लाभ

रुद्राभिषेक मंत्र का जाप करते हुए रुद्राभिषेक करने से जातक कालसर्प योग से छुटकारा पा लेता है।

बहुत समय से यदि आपके घर में गृहकलेश चल रहा हो तो रुद्राभिषेक करने से अत्यंत लाभ प्राप्त होगा।

यदि आप किसी असाध्य रोग से पीड़ित हैं, तो आपको कुशा के माध्यम से रुद्राभिषेक मंत्र से शिवजी की पूजा अवश्य करनी चाहिए।

रुद्राभिषेक मंत्र का जाप करते हुए गन्ने के रस से शिवजी का रुद्राभिषेक करने से धन-संपत्ति की प्राप्ति होती है।

दुग्ध से रुद्राभिषेक करने से संतान-सुख की प्राप्ति होती है।

कहा जाता है कि रुद्राभिषेक मंत्र का जाप करते हुए सरसों के तेल से रुद्राभिषेक करने से जातक को नौकरी आसानी से मिल जाती है तहा शत्रु समस्या का भी समाधान हो जाता है।

यदि लम्बे समय से ज्वर की समस्या चल रही हो, तो ज्वर की शांति के लिए गंगाजल से अभिषेक करें तथा रुद्राभिषेक मंत्रों का उच्चारण करें।

भवन अथवा वाहन की प्राप्ति के लिए साधक को रुद्राभिषेक मंत्र का जाप करने के साथ-साथ दही से भगवान शिव का रुद्राभिषेक करना चाहिए।

रुद्राभिषेक मंत्र का प्रभाव

माना जाता है कि रुद्राभिषेक मंत्र में इतनी शक्ति होती है कि जिस भी जगह इस मंत्र का श्रद्धापूर्वक पाठ किया जाता है, वहाँ शुद्धता का वातावरण बन जाता है, तथा नकारात्मकता का अंत हो जाता है। यह मंत्र ग्रह जनित दोषों का भी शीघ्र ही अंत कर देता है। इसी के साथ ऐसा भी माना गया है कि यदि आपके आसपास कोई व्यक्ति बहुत अधिक समय से बीमार है, तो उसको भी बीमारी से बहुत जल्द छुटकारा मिल सकता है।

लेखक
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 4
PDF साइज़1 MB
CategoryBook
Source/Creditspdffile.co.in

सम्पूर्ण शिव रुद्राभिषेक मंत्र – Sampoorna Shiva Rudrabhishek Mantra Pustak PDF Free Download

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *