जल चिकित्सा | Hydrotherapy Treatment Hindi PDF

स्वास्थ्य और जल चिकित्सा – Hydrotherapy Book PDF Free Download

पुस्तक का एक मशीनी अंश

इड़िया में क्षोग मोजन पकाते हैं। दाल, भाव, सरकारी जितनी मिट्टी के पर्वनों की पनी अच्छी होती है उत्तनी शायद फिसी धातु के पतों की अच्छी नहीं होती।

इसके अलावा धातु के बर्तनों से ऐसे पदार्थ भी भोजन में मिल भकते हैं जो शरीर के लिए हानिकारक हों, किन्तु मिट्टी के पर्तनों में पफान से यह भर नहीं रहवा ।

मिट्टी से कपड़े साफ होते हैं समी मिट्टी एक प्रकार की मिट्टा है, जिसे धोखा क्लोज फोटो फे घोन में प्रायः इत्देमास फरत है और उससे कपड़े साफ मी काफी होते हैं ।मिट्टी में गला देन साक्षी और शोपफ शक्ति मौजूद होती है। यदि किसी को फोड़ा हो गया हो

तो सिर्फ ऊपर मिट्टी की पुल्टिस लगाने से बह फोड़ा पक जायगा और उससे मयाद बाहर निकल जायगा। कभी कभी ऐसा होता है कि फोड़ा फुटता नहीं, बैठ जाना है। इस प्रकार मिट्टी को पुल्टिस फोडे को बैठा देती है।

जर्मनी के प्रसिद्ध डाक्टर एडाल्फ जुस्ट (Abolph Jate) ने अपनी नामक पुस्तक में निम्नलिखित रोगों को मिट्टी से अच्छा होता हुआ यति जाया है

सब प्रकार के पोट से होने वाले पाष धीर उनसे तत्पन्न होने पाले सर प्रकार के बुखार और चर्म रोग, कटने का घाव छुरी का घाष ,गाली का पाथ, आग से जक्षने का पाष,

जीप अनु द्वारा फाटे कुए धाय, कैन्सर, फुप्टरोग चादि सब मिट्टी से घरटे किये हैं जल-चिकित्सा में मिट्टी का अधिक महत्व है। उसकी ठंडी पट्टी प्राय पेड़ में दी जाती है जिससे अनेक रोग पूर होते हैं ।

पेड़ में पट्टी देने से गठिया, पात रोग, मूत्राशय मिट्टी में गला देन साक्षी और शोपफ शक्ति मौजूद होती है।

लेखक केदारनाथ गुप्ता-Kedarnath Gupta
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 230
Pdf साइज़3.5 MB
Categoryस्वास्थ्य(Health)

स्वास्थ्य और जल चिकित्सा – Swasthya Aur Jal chikitsa Book/Pustak Pdf Free Download

Leave a Comment

Your email address will not be published.