गैलीलियो वैज्ञानिक और खगोलविद | Galileo Biography In Hindi

गैलीलियो कहानी | Galileo Book/Pustak PDF Free Download

पुस्तक का एक मशीनी अंश

गैलिलिओ गैलिली पीसा में पले-बढ़े. आज यह शहर इटली में आता है. उनका जन्म 1564 में हुआ था. ठीक इसी साल इंग्लैंड में शेक्सपियर का जन्म भी हुआ था.

गैलिलिओ के पिता विनसेंजो एक संगीतकार थे और पिता से उन्हें विरासत में संगीत की प्रतिभा भी मिली. उन्होंने ल्यूट और ऑर्गन नामक वाद्य बजाने सीख लिए.

विनसेंजो को संगीत के साथ नए-नए प्रयोग करना पसंद था. पिता का यह गुण गैलिलिओ को भी मिला. वह बड़े प्यारे और उत्साही बालक ये और अपने आसपास की हर चीज को खोजने और परखने में उनकी बड़ी दिलचस्पी थी.

विनसेंजो जानते थे कि उनका बालक बड़ा तेज है लेकिन उन्हें इस बात का जरा भी भान नहीं था कि वह एक दिन दुनिया के महानतम वैज्ञानिकों में गिना जाने लगेगा.

गैलिलिओ की शुरूआती पढ़ाई घर पर ही हुई. एक शिक्षक उन्हें पढ़ाने आता था. गैलिलिओ की रूचि चित्रकारी, कविता और गणित में ज्यादा थी.

जब वह 10 वर्ष के थे, उनका परिवार नजदीक के फ्लोरेंस नामक शहर में जाकर रहने लगा. वहां गैलिलिओ एक मठ में चलने वाले स्कूल में जाने लगे.

लेकिन जब गैलिलिओ का रुझान साधु जीवन की ओर होने लगा तो उनके पिता ने डरकर मठ से बाहर निकाल लिया. गैलिली परिवार धनवान नहीं था. गैलिलिओ को अपनी आजीविका की चिंता करनी थी.

विनसेंजो चाहते थे कि उनका बेटा पीसा विश्वविद्यालय जाकर डॉक्टरी का प्रशिक्षण ले. लेकिन गैलिलिओ को इस पेशे से नफरत थी. कभी-कभी वह बड़ी चालाकी भी दिखाते थे.

वे अपने शिक्षकों से उलझ जाते और इस तरह उन्होंने जानबूझकर खुद को बदनाम कर दिया. स्कूल में वह रेंगलर के नाम से मशहूर थे.

पीसा प्रवास के दौरान गैलिलिओ जब 18 साल के थे तब उन्होंने एक महत्वपूर्ण वैज्ञानिक खोज की थी. यह खोज उन्होंने एक गिरजाघर में की.

लेखक जैक्यूलिन मिटन-Jacqueline Mitton
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 33
PDF साइज़1.4 MB
Categoryआत्मकथा(Biography)

गैलीलियो | Galileo Book/Pustak PDF Free Download

Leave a Comment

Your email address will not be published.