Ramdayal Pandey

अग्निपंथी | Agneepanthi

अग्निपंथी | Agneepanthi Book/Pustak Pdf Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश भूमिका के रूप में दो शब्द लिखने का साहस मुझमें न जाने क्यों और कैसे अपनी प्रथम काव्यकृति (गणदेवता नामक संकलन) के प्रकाशन की वेला में ही उदित हुआ था। तब से आज तक मैं इस परम्परा का निर्वाह करता जा रहा हूँ। …

अग्निपंथी | Agneepanthi Read More »

मन्वन्तर महाकाव्य | Manvantara Mahakavya

मन्वन्तर महाकाव्य | Manvantara Mahakavya Book/Pustak Pdf Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश शरीर तथा स्वास्थ्य की सर्वथा विवकञ रिमति में ।े पकतिय लिखनी पड़ रही है किक स महाकाव्य को पुद्रणार्थ दने हेतु ऐसा करना अनिवार्य था। अतएस एक व्यापक विषय को उपयुक्त कलेवर न देकर अत्यन्त सूक्ष्म कलेवर में सीमित करने की …

मन्वन्तर महाकाव्य | Manvantara Mahakavya Read More »

लोकायन महाकाव्य | Lokayan Mahakavya

लोकायन महाकाव्य | Lokayan Mahakavya Book/Pustak Pdf Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश भूमिका का यह पक्षी रचयिता की आर्थिक अक्षमता का सूचक है । समस्त कृपालुओं को नमन समर्पित करना] [ही चाहिए यों आगामी प्रकाशन की भी कुछ सम्भावना हुई है । इस काव्यकृति के प्रकाशन में भी भारी अर्थाभाव बना रहा और …

लोकायन महाकाव्य | Lokayan Mahakavya Read More »

राष्ट्र व्यंजन | Rashtra Vyanjan

राष्ट्र व्यंजन | Rashtra Vyanjan Book/Pustak Pdf Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश सम्पूर्ण पुस्तक के लेखनोपरान्त जो लिखी जाय वह अन्तिमा ही तो है। मेरी दो काव्य-पुस्तकें ही तो पूर्व प्रकाशित थीं, (१) मानवतावादी, राष्ट्रीयतावादी, रूढ़िवाद-विरोधी एवं शोषण-मुक्तिवादी संकलन ‘गणदेवता” और (२) स्वतंत्र भारत की सम्यक् शासन-व्यवस्था का उत्प्रेरक प्रबन्ध-काध्य ‘अशोक’ । अर्थाभाव …

राष्ट्र व्यंजन | Rashtra Vyanjan Read More »

युवा ज्योति | Yuva Jyoti

युवा ज्योति | Yuva Jyoti Book/Pustak Pdf Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश तो पारीमति सम्बन्धी ‘शक्तिमयों’ से चमकर मेरो अभिन्य प्रकाशन-यात्रा लोकरात्ति सम्बन्धी प्रयोगारमक महाकाव्य सौकायन’ सर पहुंची ही थी कि उन कराव्यचेत ना प्ररित राशनों अतिरिक्त इस गुवाशक्ति सम्बन्धी ‘दुषाज्यीडि’ का प्रकायन भी अनिपार्व पर्त्य प्रतीत हुआ। अनः पैनकन प्रकारेण इशा प्रकाशन …

युवा ज्योति | Yuva Jyoti Read More »

शक्तिमयी | Shaktimayi

शक्तिमयी | Shaktimayi Book/Pustak Pdf Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश यह कोई भूमिका नहीं है। सामान्य आत्मनिवेदन ही है यह मेरी धर्मपत्नी स्व. श्रीमती चन्द्रावती पाण्य आदी धर्मपत्नी एवं नारी थी। बेन जाने कितने पुरुषों और कितनी महिलाओं को धर्ममाता थी । ६ मा्. १९६८ को ही व दिवागता हा गई। उनके अद्धालुओं …

शक्तिमयी | Shaktimayi Read More »