सिरिधान्य | Siridhanya Dr. Khadar Vali PDF In Hindi

‘सिरिधान्य – Siridhanya Dr. Khadar Vali’ PDF Quick download link is given at the bottom of this article. You can see the PDF demo, size of the PDF, page numbers, and direct download Free PDF of ‘सिरिधान्य – Siridhanya Dr. Khadar Vali’ using the download button.

सिरिधान्य – Siridhanya Food Protocol Hindi Book/Pustak PDF Free Download

डॉ खादर के बारे में

कृशिरत्न डॉ. खादर को “मिलेट मेन ऑफ़ इंडिया” कहा जाता है

कौशल और मानवता के संयुक्त परिश्रम से दूसरों के स्वास्थ्य की बहाली में जो लोग जुड़े हैं, वे लोग महान हैं। उन में दिव्यत्व विराजमान है।

“जब हमारा खान पान गलत है तो दवाई भी कुछ नहीं कर सकती, जब हमारा खान पान सही है तो दवाई की जरूरत नहीं पड़ेगी।”

डॉ खादर वल्ली

डॉ खादर वल्ली कहते हैं कि सही भोजन, साधारण जीवन शैली और सही कृषि पद्धतियों से ही मानव समाज फिर स्वस्त समाज बन सकता है। अमेरिका के लौटे वैज्ञानिक डॉ खादर वल्ली एक राष्ट्रीय कंपनी में लाभदायक नौकरी छोड़कर एक स्वस्थ समाज का निर्माण करने के लिए अपना बहु जीवन समर्पित कर दिया है। डॉ। खादर ने मैसूर में खाद्य चिकित्सालय स्थापना किया। उन्होंने दिखाया किस तरह संपन्न अनाज से कैंसर सहित लगभग हर बीमारी को ठीक कर सकता है और कैंसर से बच सकते है।

62 वर्षीय वैज्ञानिक को बेहद जटिल बीमारियों के लिए सर्वश्रेष्ठ डॉक्टर माना जाता है। हजारों डायबिटीज के मरीज डॉ खादर वल्ली को अपने मसीहा मानते हैं क्योंकी डॉ खादर वल्ली ने उनको गैंग्रीन की वजह अंग विच्छेदन से भी बचाकर स्वस्थ जीवन दे दिया।


सकारात्मक सिरिधान्य के लाभ

कांगणी/काकुम मीठा और कड़वा स्वाद है| यह 8% फाइबर होने के अलावा एक संतुलित भोजन है। इसमें 12% प्रोटीन होता है। यह मधुमेह के रोगियों के लिए एक अच्छा भोजन है।

यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है। यह एंटीऑक्सिडेंट में समृद्ध है। इसमें बहुत अधिक फाइबर, प्रोटीन, कैल्शियम, लोहा, मैंगनीज, मैग्नीशियम, फास्फोरस और विटामिन होते हैं और इसलिए ये बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए अच्छे होते हैं।

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में दिखाई देने वाली कब्ज से छुटकारा पाने के लिए यह सही अनाज है। जब बच्चे तेज बुखार से पीड़ित होते हैं, तो कभी-कभी उन्हें दौरे पड़ते हैं, जो स्थायी होते हैं, कभी-कभी।

लेकिन कांगणी/काकुम इन बरामदों, तंत्रिकाओं की कमजोरी को दूर भगाने की क्षमता रखता है। यह उन लोगों के लिए दवा की तरह काम करता है जो पेशाब करते समय जलन महसूस करते हैं, दस्त और भूख न लगने पर पेट में दर्द ।

यह प्रोटीन और आयरन से भरपूर है और यह एनीमिया की एक अच्छी दवा है। इसमें अधिक मात्रा में फाइबर होने की वजह से ये कब्ज से छुटकारा दिलाता है।

गाँवों में, बुजुर्ग अपने अनुभव से कहते थे कि यदि आप कंगनी गंजी को खाते हैं और आराम करते हैं तो हमें बुखार से छुटकारा मिलता है। कांगणी/काकुम का सेवन उन लड़कियों के लिए अच्छा है जो दिल की बीमारियों, एनीमिया, मोटापे, गठिया, रक्तस्राव और जलन से पीड़ित हैं।

फेफड़े के ऊतकों को विशेष रूप से साफ किया जाता है। इसलिए कांगणी/काकुम फेफड़ों के कैंसर के लिए आधार भोजन है। ऐंठन से छुटकारा पाने के लिए यह अच्छा भोजन है। कांगणी / काकुम सभी प्रकार के त्वचा रोगों, मुंह के कैंसर, पेट के कैंसर, पार्किसंस रोग और अस्थमा (कोदो के साथ) से छुटकारा पाने के लिए भी उपयोगी है।.

लेखक Dr Khadar Vali
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 108
PDF साइज़10 MB
CategoryAyurved

Also Read: Siridhanya PDF In English

सिरिधान्य – Siridhanya Dr. Khadar Vali Hindi Book/Pustak PDF Free Download

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *