श्री गुरु गीता | Shri Guru Geeta

श्री गुरु गीता | Shri Guru Geeta Book/Pustak Pdf Free Download

पुस्तक का एक मशीनी अंश

श्री गुरुपादुकापंचक और श्री गुरुगीता का श्लोकानुवाद एवं भाषाभाष्य के साथ प्रकाशन किया जा रहा है। गुरुदेव सिद्धपीठ, गणेशपुरी के स्वामी श्री गीतानन्द जी के कहने से यह कार्य आरंभ किया गया था।

बाद में पता चला कि इसका अंग्रेजी अनुवाद प्रकाशित होगा। उस अनुवाद में अनेक त्रुटियाँ थीं। गुरुपादुकार्ंचक के भाषाभाष्य के अंग्रेजी अनुवाद को गुलबर्गा के डॉ. चन्द्रशेखर सो.

कपाले के सहयोग से नमूने के रूप में ठीक करके भेजा गया, किन्तु लम्बा समय बीत जाने पर भी यह अनुवाद परिपूर्ण न हो सका। इस विलम्ब को देखते हुए हमने सुझाव दिया कि पहले मूल भाषाभाष्य ही प्रकाशित करा दिया जाय।

एक न एक कारण से इसमें भी विलम्ब होता देख हमने शैवभारती शोध प्रतिष्ठान के संस्थापक, काशी के जंगमवाड़ी मठ के ज्ञानसिंहासनाधीश्वर श्री १००८ जगद्गुरु डॉ. चन्द्रशेखर शिवाचार्य

महास्वामी जी से इसके प्रकाशन का प्रस्ताव किया और उन्होंने इसे सहर्ष स्वीकार कर लिया। उसी सातत्य में यह प्रन्थ प्रकाशित हो रहा है । अभी सूचना मिली है कि अब इसका अंग्रेजी अनुवाद भी अमेरिका से प्रकाशित होने जा रहा है।

सन् १९४८ में अन्ताया और रहस्यार्था नामक श्लोकानुबाद और भाषाभाष्य के साथ विज्ञान लेख का प्रकाशन हुआ था। उसी पद्धति से यहा इनको प्रस्तुत किया गया है।

अन्तर इतना ही है कि विज्ञान भैरव का संस्करण संस्कृत टीकाओं के आधार पर तयार हुआ था, किन्तु गुरुगीता पर यह कार्य स्वतन्त्र रूप से किया गया है । संस्कृत भाष्यकारों की पद्धति से ही

यहाँ प्रसंग प्रपा अनेक पियो पर उक्टनक स्थपर प्रकाश हाला गया है। उनका पुनः यहाँ चर्चा करना अनावश्याश है। अन्य के अन्त में सला विशंकाद-विवरण की स

लेखक व्रज वल्लभ द्विवेदी-Vraj Vallabh Dwivedi
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 123
Pdf साइज़49.6 MB
Categoryधार्मिक(Religious)

श्री गुरु गीता | Shri Guru Geeta Book/Pustak Pdf Free Download

Leave a Comment

Your email address will not be published.