नेहरू गांधी राजवंश | Nehru Gandhi Rajvansh PDF

नेहरू गांधी राजवंश – Nehru Gandhi Dynasty Book/Pustak PDF Free Download

पुस्तक का एक मशीनी अंश

वह संस्कृत की विद्वान थी और कई सांसद उसके व्याख्यान सुनने को बेताब रहते थे। वह भारतीय पुरालेखों और सनातन संस्कृति की असी आनकार थी। नेहरू के पुराने कर्मचारी

एस.जी.उपाध्याय ने एक हिन्दी का या नेहरू को सौंपा जिसके कारण नेहरू उस सन्यासिन को एक इंटरव्यू देने को राजी हुए। यूलि देश तब आजाद हुआ ही था और साम बहुत था, नेहरू ने अधिकतर

बार इंटरव्यू आधी रात के समय ही दिय । मथाई के शब्दों में – एक रात मैंने उसे पीपम हाउस से निकलते देखा वह बहुत ही जवान, यूबसूरत और दिलका एक बार नेहरू के लखनऊ दौरे के समय

सादामाता उनसे मिली और उपाध्याय जो हमेशा की तरह एक पत्र लेकर नेहरू के पास आये, नेहरू ने भी उसे उत्तर दिया और अचानक एक दिन बदा माता गायब हो गई. किसी के टूटे में नहीं मिली ।

नवम्बर १९ में बैनतुर के एक कॉन्वेट में एक सुदर्शन सा आदमी पो का एक बाल सेक्स आया। उसने कहा कि उत्तर भारत में एक युवती उस कॉन्ट में की महीने पहले आई थी और उसने एक बच्चे को जन्म दिया

झ युवती ने अपना नाम पता नहीं बताया और जी के जन्म के तुरन्त बाद ही इस बच्चे को वह छोटकर गायब हो गई थी। उसकी निजी इरतुओ मे हिन्दी में लिये कुछ पर बरामद हुए जो प्रधानमन्त्री दारा लिखे गये –

पत्री का बार बजाम ऊम आदमी ने अधिकारियों के सुपुर्द कर दिया मयाई लियते -मन उस बजे और उसकी माँ की योजबीन की रफी कोशिश की लेकिन कान्वट में मुगल्य मिन्टेस जो कि एक विदेशी

महिला और बहुत कठोर, अनुशासन जाती थी और आने इस मामले में एकदमी किसी से नहीं कहा लेकिन मेरी इरमा यो नि उसका पालन-पोषण में कर और उसे रोमन कैलिक संस्कारी में बहा

लेखक सुरेश चिपलूनकर-Suresh Chiplunkar
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 29
Pdf साइज़1.4 MB
Categoryआत्मकथा(Biography)

नेहरू गांधी राजवंश – Nehru Gandhi Rajvansh Book/Pustak Pdf Free Download

Leave a Comment

Your email address will not be published.