घरेलु चिकित्सा | Gharelu Chikitsa

घरेलु चिकित्सा | Gharelu Chikitsa Book/Pustak PDF Free Download

पुस्तक का एक मशीनी अंश

  • मलेरिया

(१) तुलसी के पत्ते और काली मिर्च पीसकर चने के बराबर गोली बना लें। एक-एक गोली गर्म पानी के साथ सुबह-शाम लें।

  • (२) कुड़े की छाल, भीग्वार की जड़, काली मिर्च, चिरायता, पीपल, निबोली की गिरी, करंज की गिरी, गिलोय, अजमोद, चित्रक इन्हें बराबर लेकर नीबू के रस में खरल करके मटर जैसी गोली बना लें। सुबह-शाम एक-एक गोली शहद के साथ खावें।

(३) पीपल का चूर्ण १॥ मासे, नौसादर आधा मासे लेकर एक तोले पुराने गुड़ में मिलाकर प्रातः काल खावें।

(४) पटोल पत्र, नागरमौथा, लाल चंदन, कुटकी, नीम की छाल, चिरायता, बंशलोचन, इलाइची, गिलोय, धनिये, सोंठ, तुलसी की जड़, अजवायन, काला जीरा, ये सब चीजें बराबर लेकर कूट छान कर रख लें। इस चूर्ण में से १॥ माशा शहद के साथ सुबह-शाम लें।

(५) नीम के फल, फूल, कॉपल, छाल, जड़ बराबर लेकर इनका चूर्ण बना लें। इसमें से २ माशा लेकर नीम की छाल के काढ़े के साथ पीवें।

(६) कमलगट्टे की मिगी, खूबकला, नीलोफर, लाल चंदन गिलोय और भांग बराबर लेकर अदरक के रस में खरल करके चने के बराबर गोलो बना लें। एक-एक गोली सुबह-शाम शहद के साथ लें।

(७) पाद की जड़, खुरासानी अजवायन, काला जीरा, लोग, पीपल, चित्रक, मुलहठी-इन्हें बराबर लेकर पीस लें और मूँग की बराबर गोली बना लें। दो दो गोली सुबह-शाम शहद के साथ लें।

खाँसी

(१) काकड़ा सिंगी और मुलहठी बराबर-बराबर पीसकर रख लें। इस चूर्ण को एक मासे शहद में लेकर चाटें, दिन में कई बार चाटना चाहिए ।

(२) अदरक का रस पान का रस, शहद- तीनों को तीन-तीन मासे मिलाकर चाटें ।

(३) अडूसे का क्षार चार रत्ती लेकर थोड़े शहद में लेकर चाटें। (४) सोंठ, काली मिर्च, पीपल-इन्हें बराबर लेकर चूर्ण बना लें। एक-एक माशा लेकर शहद के साथ सेवन करें।

(५) हल्दी को भूभल में खूब भून लें, फिर उसके छोटे-छोटे टुकड़े लेकर सुपाड़ी की तरह मुँह में पड़े रहने दें. धीरे-धीरे गले में जाने दें।

लेखक श्री राम शर्मा-Shri Ram Sharma
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 47
Pdf साइज़1.2 MB
Categoryआयुर्वेद(Ayurveda)

घरेलु चिकित्सा | Gharelu Chikitsa Book/Pustak PDF Free Download

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *