Harivansh Rai Bachchan

हरिवंश राय बच्चन की सभी कविताएं | All Poems of Harivansh Rai Bachchan

हरिवंश राय बच्चन की सभी कविताएं | All Poems of Harivansh Rai Bachchan Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश आज फिर से आज फिर से तुम बुझा दीपक जलाओ । है कहां वह आग जो मुझको जलाए, है कहां वह ज्वाल पास मेरे आए, रागिनी, तुम आज दीपक राग गाओ: आज फिर …

हरिवंश राय बच्चन की सभी कविताएं | All Poems of Harivansh Rai Bachchan Read More »

मधुशाला: हरिवंशराय बच्चन | Madhushala Poem PDF

मधुशाला कविता – Madhushala Harivansh Rai Bachchan PDF Free Download मधुशाला lyrics मृदु भावों के अंगूरों की आज बना लाया हाला,प्रियतम, अपने ही हाथों से आज पिलाऊँगा प्याला,पहले भोग लगा लूँ तेरा फिर प्रसाद जग पाएगा,सबसे पहले तेरा स्वागत करती मेरी मधुशाला।।१। प्यास तुझे तो, विश्व तपाकर पूर्ण निकालूँगा हाला,एक पाँव से साकी बनकर नाचूँगा …

मधुशाला: हरिवंशराय बच्चन | Madhushala Poem PDF Read More »

हमारा राष्ट्रीय गीत | Hamara Rashtriya Geet

हमारा राष्ट्रीय गीत | Hamara Rashtriya Geet Book/Pustak PDF Free Download पुस्तक का एक मशीनी अंश ‘जन-गण-मन’ और ‘वंदे मातरम्’ को लेकर आज भी कभी-कभी बहस हो जाया करती है, वैसे, काफ़ी सोच-विचार के बाद रवीन्द्रनाथ ठाकुर के गीत को राष्ट्रगान के रूप में स्वीकार किया गया था, विचार कई-कई स्तरों पर हुआ था। हिन्दी …

हमारा राष्ट्रीय गीत | Hamara Rashtriya Geet Read More »