राजस्थान का इतिहास | History Of Rajasthan In Hindi PDF

राजस्थान का इतिहास – Rajasthan Ka Itihas Book/Pustak PDF Free Download

पुस्तक का एक मशीनी अंश

रावपास, पति और दूसरी चौथे दिगा करता था राजा सेग उम चौधों को अपनी भेना में प्रयोग करते थे। सन राम के सप का ड़ब्यहर बिकाता है कि मुगल शासन काल में सामान्य शासन प्रणाली इस देश में प्रचलित की। सबाट हुमायूँ ने कांग्रवपूत राजाओं को अपने मन बना लिया था

चन्तु बादशाह अकबर की तरह उसको सफलता न मिली थी सावन औ एजनीति मै बहुरा बुद्धिमान और दर्शाया। अपनी सूख-शो मल पर ही उपने लगपन समसत राजस्थान के एबानो को अपनी अधीनता मोकार करने के लिए विवश किया था। उसने हिन्दू और मुसलमानों का भेद मिटा दिया था

इस कार्य में उसे सस्ता पी मिली थी और उसको व्यवहारिक कुशलता का हो यह परिणाम था कि बहुत से हिन्दू राशों ने डलकी अपना सबाट मान लिया था।

मामेर राज्य दिल्ली के समीप है। म दिनों में मामेरका सासन चूत निर्मल था। अपनी निर्वतवा के कारण ही और दिल्ली के निकट होने से आमेर के राजा को मुगल सम्राट के सामने आत्म-समर्पण करना पड़ा पा ।

सबसे पहले आमेर के राजा बिहारीमत ने अकवर के साथ अपनी ली का विवाह किया था। उसके बाद मुगल समार से अपनी लड़की का विवाह करना राजपूत पूजा के लिए एक बहुत साधारन बात हो गयी और उन राजपूत बालाओं से कई मुगल सम्राटों का जन्म हुआ।

सपाट जहाँगीर का जन्म भी एक राजपूत बाला से हुआ था उसका देटा खुररी, शाहजहाँ कामबख्मा और औरंगजेब का बेटा अकबर राजपूत राजकुमारी से पैदा हुए ये। औरंगजेब के व्यवहारों से सभी हिन्दू राजा अप्रसत्र थे। इसलिये औरंगजेब को सिंडासन से

उतार कर राजापूत राजाओं ने उसके लड़के अकबर को सिंहासन पर चिटाने की घे्टा की |। मुगल समाों का राजपूतों के साथ जो वैवाहिक सम्बंध शुरू हुआ था, वह अंत इक चलवा रस। जिस समय मुगलों की शक्तियों शि

लेखक डॉ. गोपीनाथ शर्मा – Dr. Gopinath Sharma
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 726
PDF साइज़ 27 MB
Category इतिहास (History)

राजस्थान का इतिहास भाग 1 -History Of Rajasthan In Hindi Book/Pustak PDF Free Download

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *