दश महाविद्या | Das Mahavidya PDF In Hindi

दश महाविद्या पाठ – Dasha Mahavidya Book/Pustak PDF Free Download

पुस्तक का एक मशीनी अंश

क्षीयमान आपके अधिष्ठान दक्षिणामूर्ति कालभैरव है। उनकी शक्ति ही त्रिपुरभैरवी है। ये ललिता या महात्रिपुरसुन्दरी की रधवा हिनीहैं। वहयह पुराणे इने गुभ थोगिनियोंकी अधिष्री देवी के रूप में चित्रित किया गया है।

पत्यपुराण में उनके त्रिपुरभैरवी, कोलेशभैरवी, रूभैरणी, चैतव्यभैरवी तथा नित्याभैरवी आदि कर्ीका वर्णन प्राप्त होता है। इनियोपर विजय और सर्वत्र उत्कर्षकी प्राधिहेतु त्रिपुरभैरवी की उपासना का वर्णन शास्त्रमें मिलता है।

महाविद्याओं में इनका क्या स्थान है। त्रिपुर भैरवी का मुख्य उपयोग घोर कर्मों होता है। इनके प्यानका ओख दुर्गासमशतीके पीसो अध्याय में महिषासुर-वध प्रसंग में हुआ है। इनका रंग लाल है। ये स्वाल वस्त्र पहनती है गलेमें मुण्डमाला धारण करती हैं और स्तपर रक्त चन्दनका लेप करती हैं।

ये अपने हाथों में जपमाला, पुस्तक तथा बर और अभय मुद्रा धारण करती हैं। ये कमलामनपर विराजपान हैं भगवती त्रिपुरभैरवी ही मधुपान करके मरिषका हृदय विदीर्ण किया था। रुचामल एवं भैरवीकृुलसर्वस्वमें इनकी उपासना तथा कवका अमेय मिलता है।

संकटोंसे मुक्तिके लिये भी उसकी उपासना करनेका विधान है। घोर क्र्म के लिये कालकी विशेष अवस्था जनित मानों की शान कर देने वाली शक्तिको ही त्रिपुर भैरवी कहा जाता है।

इनका अरुण वर्ण विमर्शका प्रतीक है। इनके गलौ सुशोभित मुण्डमाला हो वर्णमाला है।

देवीके रक्तलि पयोधर रजोगुण सम्प्र सृष्टि प्रक्रिया का प्रतीक है। अक्ष जपमाला वर्णसमानायकी प्रतीक है पुस्तक ग्रविद्या है, त्रिनेत्र बेदरदी हैं तथा स्मित हास करुणा है। आगम राधा के अनुसार त्रिपुर भैरवी एकाक्षर कूप (प्रणव) है।

इनसे सम्पूर्ण भुवन ज्रिपुरभीरी के अनेक भेद हैं: जैसे सिद्धि भैरवी, भैरवी, भवनेभर, कमलेश्वरीभयो, कामेरीभवी, पदकटाभैरवी, नियाभरणी, कालेशीधरवी, रुद्रभेरी आदि।

मिद्धिर्भावी जनरामाय पीठकी देवी हैं निनयाभेव पमाराय पीटको देवी हैं. इनके उपायक भगवान शिव ।का भैरवी दक्षिणाय पीठ को नेवी इनके उपासक भगान् विष्णु है।

लेखक गीता प्रेस-Gita Press
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 25
Pdf साइज़19.6 MB
Categoryधार्मिक(Religious)

दश महाविद्या | Dasha Mahavidya Book/Pustak Pdf Free Download

1 thought on “दश महाविद्या | Das Mahavidya PDF In Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published.