पवित्र बाइबल हिंदी भाषा में | The Holy Bible PDF In Hindi

हिंदी बाइबल – Bible Hindi Book/Pustak PDF Free Download

उत्पत्ति को पुस्तक |

१ पहिला पर्व ।

आरंभ में ईश्वर ने आकाश और एथिवी को सिरजा ॥ २ ॥ और पृथिवी बेडौल और हनी थी और गहिराव पर अंधियारा था और ईश्वर का आत्मा जल के ऊपर डोलता था ॥ और ईश्वर ने कहा कि उंजियाला होवे और उंजियाला हो ४। और ईश्वर ने उंजियाले को देखा कि अच्छा है और ईश्वर ने उंजियाले को अंधियारे से विभाग किया। ५।

और ईश्वर ने उंजि ने याले को दिन और अंधियारे को रात कहा और सांझ और बिहान पहिला दिन हुआ ॥ ६। और ईश्वर ने कहा कि पानियों के मध्य में आकाश होवे और पानियों को पानियों से विभाग करे ॥ ७। तब ईश्वर ने आकाश को बनाया और आकाश के नीचे के पानियों को आकाश के ऊपर के पानियों से बिभाग किया और ऐसा हो गया ॥ ८।

और ईश्वर ने आकाश को खर्ग कहा और सांझ और बिहान दूसरा दिन हुआ ॥ ८। और ईश्वर ने कहा कि वर्ग के तले के पानी एकही || स्थान में एकडे होवें और सूखी दिखाई देवे और ऐसा हो गया ॥ १० ।

और ईश्वर ने सूखी को भूमि कहा और एकट्ठे किये गये पानियों को समुद्र कहा और ईश्वर ने देखा कि अच्छा है। ११ । और ईश्वर ने कहा कि भूमि घास को और साग पात को जिन में बीज होवें और

२ दूसरा पर्व ।

ये वर्ग और एथिवी और उन की मारी सेना बन गई ॥ २ । और ईश्वर ने अपने कार्य को जो वह करता था सातवें दिन समाप्त किया और उस ने सातवें दिन में अपने सारे कार्य से जो उस ने किया था विश्राम किया ॥ ३।

और ईश्वर ने सातवें दिन को आशीष दिई और उसे पवित्र ठहराया इस कारण कि उसी में उस ने अपने सारे कार्य से जो ईश्वर ने उत्पन्न किया और बनाया विश्राम किया । और पृथिवी की उत्पत्ति है जब वे उत्पन्न हुये जिस दिन परमेश्वर ४ ।

यह वर्ग ईश्वर ने स्वर्ग और पृथिवी को बनाया ॥ ५ । और खेत का कोई साग पात अबल पृथिवी पर न था और खेत की कोई हरियाली अब लो न उगी थी क्योंकि परमेश्वर ईश्वर ने एथिवी पर में ह न बर्स।

निवास चषर तंबू चर उस का चटाटेप र उप के कुण्डियां और उन के पाड चैरर उम के अचर उम के सभ चार ओम के पाए । .२ रर गंजपा और उस के बहगर र इथा का शासन चर मांयने का सुपर । १३।

मंच चार ओम के बहंगर और उस के समस्त पाप और बेटी के रो। रहा और चाहि के लिये दौथर] और उस को सामग्री प्रेर मकान के लिये तेल के संग उस के दौपक ५।

और पप की नदी र उस के बह् र अभि्ंक का मेत और धूप और सुगंधित द्रव्य और नंबर में प्रवेश करने के द्वार की केट । १६ ।

हिदी पीपल की भरी चोर उम्र के बर्गर और उस के ममस्त चार चार दानपात्र उग के पाय स्रोत । १७। आंगन को पोट और डाग के खभ और उन के पाए और मन के द्वार की घोट। १ ५ के र पगन के खूटे चै। र उन की छोरियां रर।

ने के बच्च जमात पपिव बान में से करें रून याजञक के लिय पवित्र वसा और उस के बोरा के परिव दगा उमंग याजक के पढ़ में से कर। २० । रानी के मंगानों की समस्या मामा ममा के आ से चली गई।२।

कार हर एक [जियो के मन में बसे उभाइ़ा घैर हर एक अपने मान के अभिशाप से जिस में जा पा मंडली के तंब के का्थ के कारण और म के नंबर ग्राम उक्त की गमसा केका औरर पवित सस्त् के लिये परमेश्वर की नर नारी।

गरचे श्राव था वो था परिणाम गिरने को वॉश चार पकड़े चोर कालिया सोर कुर्ता लिया यह सब सोने के गाने के भार र एक मामय जिस ने परमेवार के लिये गाने की भट दि

०३ सररर एक म् जिम के भम भील कर जमी पर लान त के भौनि वसा सोर बकरियों के राम और दो के साथ जगत और तहमा के कमरे २। ।।

मे में रमेश का हपते की सेवा पील कीट दिन भर परमे मार लिमाया चार जिम किमी के पार शमशाद को बकरी ने मेरो श्री कार्य के पिताया। २५। पर मनवा मिलने जा बुद्धिमान की ने अपने से काना |

लेखक
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 804
PDF साइज़52.6 MB
Categoryधार्मिक(Religious)

बाइबिल की वैकल्पिक किताब

हिंदी भाषा में पवित्र बाइबल – Bible in the Hindi language book/Pustak PDF Free Download

1 thought on “पवित्र बाइबल हिंदी भाषा में | The Holy Bible PDF In Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *