एनसीईआरटी कक्षा 9वीं इतिहास | NCERT Class 9th History Book PDF In Hindi

‘कक्षा 9 इतिहास एनसीईआरटी पुस्तकें’ PDF Quick download link is given at the bottom of this article. You can see the PDF demo, size of the PDF, page numbers, and direct download Free PDF of ‘Class 9 History NCERT Books’ using the download button.

कक्षा 9 इतिहास के लिए एनसीईआरटी पुस्तकें – NCERT Books for Class 9 History PDF Free Download

कक्षा 9 इतिहास

रोजमर्रा की जिंदगी जीते हुए जब हम अखबारों में दुनिया भर की घटनाओं के बारे में पढ़ते है तो आम तौर पर हम उर कर उन घटनाओं के लंबे इतिहास के बारें में नहीं सोचते।

चीजें हमारी आंखों के सामने बदलती रहती हैं लेकिन हम कभी ये नहीं सोचते कि वह बदल क्यों रही है? बल्कि अकसर हम इस बात पर भी ध्यान नहीं देते कि पहले ची ऐसी नहीं थीं।

इन बदलावों पर लगातार नजर रखना ये समझना कि बदलाव क्यों और कैसे आ रहे हैं, और यह भी कि हम आज जिस दुनिया में जी रहे हैं वह कैसे बनी है यही इतिहास है।

कक्षा IX और X की इतिहास की पाठ्यपुस्तकों का मुख्य संर यही समझने पर है कि समकालीन विश्व कैसे बना है। पिछली कक्षाओं (VI-VIII) में आपने भारत के इतिहास के बारे में पढ़ा है।

अगले दो सालों (कथा IX और X) की इतिहास की पुस्तकों में आप यह जानेंगे कि किस तरह भारत के अतीत की कहानी दुनिया के लंबे इतिहास से जुड़ी हुई है।

जब तक हम इस संबंध पर विचार नहीं करेंगे तब तक इस बात को अच्छी तरह नहीं समझ पाएंगे कि भारत में क्या और कैसे हो रहा था।

यह बात इसलिए और भी महत्वपूर्ण हो जाती है कि आज तमाम अर्थव्यवस्थाएँ और समाज दिनोंदिन गहरे तौर पर एक-दूसरे से जुड़ते जा रहे हैं। इतिहास को हमेशा भौगोलिक सीमाओं में बंद करके नहीं देखा जा सकता।

वैसे भी राष्ट्रीय भौगोलिक सीमाओं को ही अपने अध्ययन का एकमात्र केंद्रबिंदु मान लेना ठीक नहीं होगा। कई बार ऐसे मौके आते हैं जब एक छोटे से क्षेत्र एक इलाके एक गाँव किसी रेगिस्तानी पट्टी, किसी जंगल या किसी पहाड़ पर ध्यान केंद्रित करने से हमें लोगों के जीवन में मौजूद भारी विविधता और उन इतिहासों को समझने में मदद मिलती है जिनसे किसी राष्ट्र का इतिहास बनता है।

इतिहासकार बहुत सालों से इन स्थापनाओं पर सवाल खड़ा करते आ रहे हैं। अब हम अच्छी तरह जान चुके है कि हरेक समाज में परिवर्तन का अपना इतिहास होता है।

इसीलिए आधुनिक विश्व की रचना को समझने के लिए हमें इस बात पर ध्यान देना पड़ेगा कि विभिन्न समाजों ने इन बदलावों को किस तरह अनुभव किया और उन्हें कैसे शक्ल दी है। हमें देखना पड़ेगा कि अलग-अलग देशों के इतिहास किस प्रकार एक-दूसरे से जुड़ रहे हैं।

कैसे एक समाज में हुए बदलावों का असर दूसरे समाज में देखा जा सकत है; कैसे भारत व अन्य उपनिवेशों की घटनाओं ने यूरोप को प्रभावित किया। आशय यह कि समकालीन विश्व का रूप स्वरूप सिर्फ़ पश्चिम से तय नहीं हुआ है।

समकालीन विश्व का इतिहास सिर्फ उग और व्यापर विज्ञान और प्रौद्योगिकी, रेलवे और सड़कों का इतिहास नहीं है। इनके साथ सब यह बनवा सियाँ और चरवाहों घुमंतु काश्तकारों और छोटे किसानों का भी इतिहास है।

इन सभी समाजिक समूहों ने आज की दुनिया को आज जैस बनाने में अपना यंगवन दिया है। इस साल आप इस विविधता घरी दुनिया के बारे में ही पढ़ने जा रहे हैं।

कक्षा IX और X दोनों पुस्तकों में तीन खंड और आठ अध्याय हैं। हमें उम्मीद है कि आप सभी अध्ययं को पढ़ने का आनंद उठाएँगे लेकिन परीक्षा की दृष्टि से अपको केवल पाँच-पाँच अध्यय ही पढ़ने हैं- दो-दो अध्याय खंड | और 11 से तक एक अध्याय खंड III

दोनों किताबें के खंड में कुछ ऐसी घटनाओं और प्रक्रियाओं पर ध्यान दिया गया है. जो आधुनिक विश्व को समझ की दृष्टि से काफ़ी महत्त्वपूर्ण है। इस साल खंड में आप फ्रांसीसी क्रांति, रूसी क्रांति और नात्सीवाद के बारे में पढ़ेगे। अगले साल आप भारत तथा अन्य देशों’ में राष्ट्रवाद और उपनिवेशवाद विरोधी.

दोनों किताबें के खंड में कुछ ऐसी घटनाओं और प्रक्रियाओं पर ध्यान दिया गया है. जो आधुनिक विश्व को समझ की दृष्टि से काफ़ी महत्त्वपूर्ण है।

इस साल खंड में आप फ्रांसीसी क्रांति, रूसी क्रांति और नात्सीवाद के बारे में पढ़ेगे। अगले साल आप भारत तथा अन्य देशों’ में राष्ट्रवाद और उपनिवेशवाद विरोधी आवलनों के बारे में जानेंगे।

लेखक NCERT
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 189
PDF साइज़45 MB
CategoryEducation
Source/CreditsGoogle.Drive.Com

कक्षा 9 इतिहास के लिए एनसीईआरटी – NCERT Books for Class 9 History PDF Free Download

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *