मेहंदी की किताब | Mehndi Design With Images PDF

Mehndi Drawing Book PDF Free Download

मेंहदी का ऐतिहासिक विवरण

प्राचीन काल से भारतीय संस्कृति में नारी के मेंहदी रचे हाथ सोन्दर्य और सौभाग्य के प्रतीक माने जाते रहे हैं सौन्दर्य शास्त्र में महिलाओं के लिए ल्लिखित श्रृंगार प्रसाधनों में मेंहदी का महत्वपूर्ण स्थान है मेंहदी रचाना री के सोलह श्रृंगारों में प्रमुख श्रृंगार माना जाता है गोरे गोरे कोमल कोमल हाथों में रची मेंहदी देखकर भला किसका मन चंचल नहीं हो उठता केसका भावुक मन उन्माद, उल्लास और उमंग से सराबोर नहीं होता सच भी कहा गया है मेंहदी के नाम में ही महक है, मादकता है, मोहकता है. धुरता है, मस्ती है और मतवालापन है।

हवेली के साथ साथ पैरों में भी मेहंदी के सु्बरमूने चिचित किये जाते है । पायस की सुन्दरता निये हुए पैर मेहदी के रंग में दुगर्ने सुन्दर लगने सगते हैं इस लिये मेंहदी केछानस का बुर पेरे पर मेहदी काडने के काम निया जा सकता है।

पैरों पर मैंहदी लगाने से पहले पट्टे पर पवने पैर रविए बैर जमीन से ऊचे रहे ताकि पैरों की मेहदी जमीन में न मे घब मेंहदी से गुरु करके एडी के पीछे से लेकर मेहंदी का पोत चोडा कौडा लखाइए जब सूख जाय तब उठकर चलना चाहिये। मेंहदी कैसे लगाएं ?

मेंहदी का रंग अच्छा उसके इसके लिए मेंहदी के पोल में नीबू का रस. पिसा हुया कत्था, तिल्ली का तेल यादि में से कोई भी चीच चोल दे । इसमें मेंहदी अच्छी रचेगी दूसरे में हादी सूखने के बाद उस खटाई न चीनी का मिथित घोल रई के टुकड़े से

हथेली पर दस दस मिनिट बाम जमाये । अब मेहदी पोल लग लग कर मुखाय पर पाने बने तो उसे पानसे धीरे और उतार कर मिट्टी का तेल या सरसों का तेल हथेलियों पर लगा कर दोड दे । रात भर हाथों पर पानी जमने दे सुबह

उठकर हाथ चर थोकर तेल ल मेहदी अचनद्रा मंग कर उभरेगी । मेंहदी लगाने से लाभ मेंहदी नारी के सौभाग्य और सौन्दर्य को बढाने वाला उपायान तो ही साथ ही इसमें धौर भी पने क लाभ है ये किसी के बाद होने

पर जनजाने पर महबी जमाने में उस पर जाती है क्योकि मेहदी में सभी मानना करने की पूर्व क्षमता निहित, मिरर साथ सोच तथा हाथ पैर की जनन दर करने के लिए इसकी पतियों का नए किया जाता है।

मेंहदी छानने की विधि :–

बाजार से अच्छे हरे रंग की मेंहदी मंगवाइये, मेंहदी को नाइलोन या टेरेलीन के किसी साफ कपड़े से दो स्त्रियां मिलकर छानिये । एक स्त्री कपड़े को एक हाथ से पूरा समेट कर पकड़ ले घोर दूसरे हाथ से कपड़े में हाथ डाल कर मेंहदी को छाने । दूसरी स्त्री कपड़े को दोनों हाथों में बिना समेटे पकड़े ट प्रिन्टर्स रहे. एक समय के छानने से यदि मेंहदी बारीक न छन पाये तो उसे एक बार |

लेखक विनेश-M.B Vinesh
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 52
Pdf साइज़2.7 MB
Categoryसाहित्य(Literature)

Mehndi Drawing For Hand And Leg Book Pdf Free Download

Leave a Comment

Your email address will not be published.