राम नाम | Ram Nam PDF

राम नाम – Ram Nam Book/Pustak Pdf Free Download

राम और उसके जीवन से शिखना

जिसमे कोजी शक नहीं कि रामनाम सबसे ज्यादा यकीनी जिमदाद है। अगर दिलसे बुसका जप किया जाय, तो वह हरनेक बुर खमासको तुरन्त दूर कर सकता है बौर जब बुरा खयाल मिट गया, तो ब्रुसका बुरा असर होना समय नही।

बगर मन कमजोर है, तो बाहरकी सब विमवाद देकार है, और मन पवित्र है, तो वह सब गैरजरूरी है। बिसका यह मतलब ह्रगिज न समझना चाहिये कि बेक पवित्र मनवाला आदमी सब तरहकी छूट लेते हमें भी बेदाग बचा रह सकता है।

जैसा आदमी खुद ही अपने साथ कोबी छूट लेगा। असका सारा जीवन बुसकी भीतरी पवित्रताका सच्चा सबूत होगा। गीतामे ठीक ही कहा है कि आदमीका मन ही बुसे बनाता है और वही बुसे बिगाडता नी है ।

मिस्टन जब यह कहता है कि ‘मनुष्यका मन हो सब कुछ है, दही स्वर्गको नरक और नरकको स्वर्ग बना देता है, तो वह भी बिना विचार की व्याख्या करता है |जिनसेवक, १२-५-१९४६ रामनामका मजाक

स.-बनारसका रामनान बैंक, और रामनाम भापा कपड़ा पहनना, मा शरीर पर रामनाम लिखकर घूमना रामनामका मजाक और हमारा पतन नही तो क्या है इसी हालत में सारे रोगोके रामबाग जिताजके रूपमे

रामनामका प्रचार करके स्या आप जिन डोगियोके हाथमे पत्थर नही दे रहे है? अन्तर-प्रेरणासे निकला हुआ रामनाम ही रामबाग हो सकता है। और में मानता है कि जैसी अन्तर-प्रेरणा सच्ची धार्मिक शिक्षासे ही मिलेगी।

ज० – आपने ठीक का है। आजकला हमारे अन्दर जितना वहग फेला हुआ है जोर जितना दम्भ पता है कि सही जीजा करनेमे भी दरना पढता बिसका यह मतलब ह्रगिज न समझना चाहिये बेक पवित्र मनवाला

आदमी सब तरहकी छूट लेते हमें भी बेदाग बचा रह सकता है। जैसा आदमी खुद ही अपने साथ कोबी छूट लेगा। असका सारा जीवन बुसकी भीतरी पवित्रताका सच्चा सबूत होगा।

लेखक गांधीजी-Gandhi ji
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 83
Pdf साइज़3.6 MB
Categoryप्रेरक(Inspirational)

राम नाम – Ram Nam Book/Pustak Pdf Free Download

Leave a Comment

Your email address will not be published.