300+ Hindi Quotes Collection PDF

Quotes On Love, Sad, Women Pdf Free Download

Read Quotes In Hindi For Various Topic

Quotes On

इस देशमें मेरे ही समान शरत्के असंख्य प्रेमी है । शरत्की लेखनी के निर्झरसे अनेक साहित्यिक सूक्तियोंके मणि-माणिक्य सहसा ही झरते ए चले गये हैं।

मैंने उन्हींको यहाँ ग्रंथित फर दिया है। आशा है माठकोंको यह प्रयास बच्चे । इन उक्तियोंमें कहीं धर्म, समाज, साहित्य तथा अनेक प्रचलित धारणाओंको चुनौती है,

कही अनुभवकी आगमे पके हुए अक्षय सूत्र हैं, कहीं हृदयकी वेदना पिघलकर मार्मिक चुटकियोंमे उच्छुसित है और कहीं घोर-कठोर या खरे सत्य ! पाठक पूछना चारहेंगे- क्या ये शरत्के बिचार हैं ?”

उत्तरमे मैं उन्हें पुस्तकके नामको की ओर आर्किपत करना चाहूँगा- ‘शरत्की सूतियाँ। ये उक्तियों शरत की बहु-रुपी रचनाओ, यथा- कहानी, उपन्यास, निबन्ध, भाषण और पत्रोसे चुनी गई है।

जो अश गल्प-साहित्यसे लिये गये हैं उनमे यह निर्णय करना कठिन है कि यह शरत्का अपना मत है- बा मात्र एक दृष्टिकोण ! मै समझता हूँ कि उन्हें यही मानकर चलना उपयुक्त होगा कि वे शरतकी नहीं,

उनके पात्रोकी अपनी परिस्थिति-विशेषकी मान्यता हैं। यही कारण है कि कभी-कभी इन उक्तियोमें परस्पर अन्तर्विरोध दिखाई देता है। जो अश | निबन्ध और व्याख्यानसे लिये गये है

उनमें आपको शरत्के प्रत्यक्ष टशन हो जाते हैं। यह उक्तियों कथन या अभिव्यक्ति-चातुर्वको भी व्यानम |ररलकर चुनी गई है । साथ ही उनई भरसक छोटा बनानेकी मी चेष्टा की गई है।

पुस्तकका उद्देश्य केवळ पाठक के विचार-दौपशिखाको प्रज्वलित जिजासु पाटकोंकी सुविधा के लिए उचिपका उद्गम स्थल नीचे लिख दिया गया है । चना के नाम ये है

जो हिन्दी प्रत्य-रत्नाकर, तर्तईसे प्रदर्शित शरत्-साहिर्यमें | इसी मालमे पहले ‘पोर टावी’ का अनुवाट पथ के दावेदार’ नामसे हुआ था, नये सरफरणी में बह ‘अधिकार’ नामसे है, मैने इसीको लिया है ।

लेखक रामप्रकाश जैन-Ramprakash Jain
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 126
Pdf साइज़3 MB
Categoryसाहित्य(Literature)

Hindi Quotes Collection PDF Pdf Free Download

Leave a Comment

Your email address will not be published.