हनुमान जयंती विशेष | Hanuman Jayanti Vishesh

हनुमान जयंती विशेष | Hanuman Jayanti Vishesh Book/Pustak PDF Free Download

पुस्तक का एक मशीनी अंश

हनुमान चालीसा और बजरंग बाण ही क्यु ?

क्योकि वर्तमान युग में श्री हनुमानजी शिवजी के एक एसे अवतार है जो अति शीघ्र प्रसन्न होते है जो अपने भक्तो के समस्त दुखो को हरने में समर्थ है।

श्री हनुमानजी का नाम स्मरण करने मात्र से ही भक्तो के सारे संकट दूर हो जाते हैं। क्योंकि इनकी पूजा-अर्चना अति सरल है, इसी कारण श्री हनुमानजी जन साधारण मे अत्यंत लोकप्रिय है।

इनके मंदिर देश-विदेश सवत्र स्थित हैं। अतः भक्तों को पहुंचने में अत्याधिक कठिनाई भी नहीं आती है। हनुमानजी को प्रसन्न करना अति सरल है

हनुमान चालीसा और बजरंग बाण के पाठ के माध्यम से साधारण व्यक्ति भी बिना किसी विशेष पूजा अर्चना से अपनी दैनिक दिनचर्या से थोडा सा समय निकाल ले तो उसकी समस्त परेशानी से मुक्ति मिल जाती है।

“यह नातो सुनि सुनाइ बात है ना किसी किताब मे लिखी बात है, यह स्वयं हमारा निजी एवं हमारे साथ जुड़े लोगो के अनुभत है।”उपयोगी जानकारी हनुमान चालीसा और बजरंग बाण के नियमित पाठ से हनुमान जी की कृपा प्राप्त करना चाहते हैं

उनके लिए प्रस्तुत हैं कुछ उपयोगी जानकारी ..नियमित रोज सुभह स्नान आदिसे निवृत होकर स्वच्छ कपड़े पहन कर ही पाठ का प्रारम्भ करे।नियमित पाठ में शुद्धता एवं पवित्रता अनिवार्य है।

• हनुमान चालीसा और बजरंग बाण के पाठ करते समय धूप-दीप अवश्य लगाये इस्से चमत्कारी एवं शीघ्र प्रभाव प्राप्त होता है। दीप संभव न होतो केवल ३ अगरबत्ती जलाकर ही पाठ करे।

कुछ विद्वानों के मत से बिना धूप से हनुमान चालीसा और बजरंग बाण के पाठ प्रभाव हिन होता है। यदि संभव हो तो प्रसाद केवल शुद्ध घी का चढाए अन्य था न चढाए

  • जहा तक संभव हो हनुमान जी का सिर्फ़ चित्र (फोटो) रखे। * यदि घर मे अलग से पूजा घर की व्यवस्था हो तो वास्तुशास्त्र के हिसाब से मूर्ति रखना शुभ होगा।
लेखक Gurutva Jyotish
भाषा हिन्दी
कुल पृष्ठ 116
Pdf साइज़7.5 MB
Categoryधार्मिक(Religious)

हनुमान जयंती विशेष | Hanuman Jayanti Vishesh Book/Pustak PDF Free Download

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *